Lens Eye : अकाल मृत्यु से बचाता है "यम" को दीप दान - डा सुनील बर्मन
Top News

अकाल मृत्यु से बचाता है “यम” को दीप दान – डा. सुनील बर्मन

Lens Eye : अकाल मृत्यु से बचाता है "यम" को दीप दान -  डा सुनील बर्मनरांची 09 नवम्बर 2012 :: कार्तिक माह, कृष्ण पक्ष के चतुर्दसी मृत्यु के देवता “यम” को समर्पित है. इस रात को जब घर के सभी सदस्य सो जाएँ , तो घर के सबसे बुजुर्ग , जैसे दादीमाँ या माँ, सरसों तेल का दीपक जला कर घर के सबसे अन्दर से प्रारंभ करते  हुये, पुरे घर के सभी तरफ घुमाते हुए घर के बाहर जा कर घर के मुख्य द्वार के सामने  इंटें पर जल से धोकर थोडा गोबर रख कर उसके  दीपक को रख दे। ख्याल रहे कि, दीपक का मुंह दक्षिण की तरफ हो,क्योंकि यम का द्वार दक्षिण ही है. इसके बाद बिना रोक-टोक के और बिना  मुड़े हुए सीधा घर चले आये। इस दीप  से “यम” प्रसन्न होते है, और अकाल मृत्यु के भय से मुक्त होने का वरदान प्रदान करते हैं।

                                                   :-  डा. सुनील बर्मन ( स्वामी दिव्यानंद).

 

 

Share

Leave a Reply