Lens Eye - News Portal - अनुभव और व्यवहार ही जीवन की बडी पूंजी - स्वतंत्र कुमार सिंह [कलेक्ट्र, दमोह ]
Latest News Top News

अनुभव और व्यवहार ही जीवन की बडी पूंजी – स्वतंत्र कुमार सिंह [ कलेक्ट्र, दमोह, मध्यप्रदेश ]

Lens Eye - News Portal - अनुभव और व्यवहार ही जीवन की बडी पूंजी - स्वतंत्र कुमार सिंह [कलेक्ट्र, दमोह ]दमोह, मध्यप्रदेश 01 जुलाई 2013 ::: अनुभव और अच्छा व्यवहार जीवन की सबसे बडी पूंजी होती है जिसके बल पर वह सबको अपना बना लेता है इसलिये हर व्यक्ति को इस दिशा में सोचते हुये कार्य करना चाहिये। यह बात जिले के कलेक्ट्रर स्वतंत्र कुमार सिंह ने कही। स्थानीय संयुक्त कलेक्ट्रड भवन के सभा कक्ष में आयोजित सेवानिवृत अधिकारी एवं कर्मचारियों को बिदाई के लिये आयोजित एक गरिमामय समारोह में श्री सिंह ने सेवानिवृत हुये अधिकारी एवं कर्मचारियों  द्वारा अपनी सेवाकाल में किये गये कार्यो  की सराहना करते हुये कहा कि हमको ऐसे अनुभवी अधिकारी एवं कर्मचारियों  से मार्गदर्शन प्राप्त होता है। इस अवसर पर इन्होने सेवानिवृत होने वालों के बारे में अपने अनुभवों और संस्मरणों को भी  सबके सामने रखा। ज्ञात हो कि जिले में अपनी सेवायें देने वाले जिला जनसम्पर्क कार्यालय में पदस्थ सहायक संचालक जी.एस.ठाकुर, जिला कार्यालय में पदस्थ अधीक्षक श्यामलाल पाठक, तहसील कार्यालय में पदस्थ सहायक ग्रेड-3 धरमचंद जैन एवं कृषि विभाग  में पदस्थ वाहन चालक नर्मदा प्रसाद रजक सेवानिवृत हुये थे। इन सभी का कलेक्ट्रर श्री सिंह ने शाल श्रीफल से तथा स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित  करते हुये भावभीनी बिदाई दी ।

इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ. जगदीश जटिया, एस.डी.एम.  मनोज कुमार ठाकुर, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती नंदा कुशरे, उपसंचालक कृषि  नामदेव हे़डाऊ, जिला कोषालय अधिकारी आर.के.मिश्रा, स्टेनो टू कलेक्टर एच.एन.श्रीवास्तव, पत्रकार डाॅ. एल.एन.वैष्णव, मीडिया आॅफीसर श्रीमती रचना तिवारी सहित जिला कार्यालय परिवार के अधिकारी एवं कर्मचारीगणों की गरिमामय उपस्थित थी।

रिपोर्ट :: डा.एल.एन.वैष्णव, दमोह.

Leave a Reply