अस्‍पताल प्रबंधन को यह सुनिश्चित करना है कि पहले दुर्घटनाग्रस्‍त व्‍यक्ति का इलाज हो, अन्‍य आवश्‍यक कार्रवाई बाद में हो : हेमंत सोरेन [ मुख्‍यमंत्री, झारखण्ड ]
Latest News Top News

अस्‍पताल प्रबंधन को यह सुनिश्चित करना है कि पहले दुर्घटनाग्रस्‍त व्‍यक्ति का इलाज हो, अन्‍य आवश्‍यक कार्रवाई बाद में हो : हेमंत सोरेन [ मुख्‍यमंत्री, झारखण्ड ]

राँची, झारखण्ड  01 फरवरी 2014 ::  हेमंत सोरेन [ मुख्‍यमंत्री, झारखण्ड ] ने कहा कि राज्‍य पुलिस द्वारा गोल्‍डेन ऑवर सिअस्‍पताल प्रबंधन को यह सुनिश्चित करना है कि पहले दुर्घटनाग्रस्‍त व्‍यक्ति का इलाज हो, अन्‍य आवश्‍यक कार्रवाई बाद में हो : हेमंत सोरेन [ मुख्‍यमंत्री, झारखण्ड ]स्‍टम की शुरुआत राज्‍य में पहला अवसर है। इस सिस्‍टम के लिए राज्‍य की पुलिस, फेडरेशन ऑफ झारखंड चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्‍ट्रीज एवं शहर के विभिन्‍न अस्‍पतालों के सामूहिक प्रयास से संभव हो सका है। सामूहिक प्रयास से ही बेहतर परिणाम आते हैं। सरकार इस व्‍यवस्‍था को और सुदृढ़ करने का प्रयास करेगी। सीएम ने आज पुलिस कंट्रोल रूम में गोल्‍डेन ऑवर सिस्‍टम का शुभारंभ किया।

Lens Eye - News Portal - अस्‍पताल प्रबंधन को यह सुनिश्चित करना है कि पहले दुर्घटनाग्रस्‍त व्‍यक्ति का इलाज हो, अन्‍य आवश्‍यक कार्रवाई बाद में हो : हेमंत सोरेन [ मुख्‍यमंत्री, झारखण्ड ]मुख्‍यमंत्री ने कहा कि सड़क हादसों में शिकार लोगों के लिए एक-एक क्षण महत्‍वपूर्ण होता है और उन्‍हें दुर्घटना के पहले एक घंटे के दौरान चिकित्‍सा सुविधा उपलब्‍ध कराकर उनकी जान बचायी जा सकती है। यह गोल्‍डेन ऑवर सिस्‍टम इस ओर एक सराहनीय कदम है। उन्‍होंने कहा कि किसी योजनाओं की सफलता में सभी की सहभागिता आवश्‍यक है। अस्‍पताल प्रबंधन को यह सुनिश्चित करना है कि पहले दुर्घटनाग्रस्‍त व्‍यक्ति का इलाज हो, अन्‍य आवश्‍यक कार्रवाई बाद में हो। सरकार का प्रयास रहेगा कि पैसे के अभाव में अब किसी भी गरीब जनता की जान न जाये। शहर से लेकर ग्रामीण स्‍तर तक की स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं को बेहतर करने के प्रति गंभीर है, जिसका उदाहरण है रिम्‍स परिसर में सुपर स्‍पेशियलिटी ब्‍लॉक की शुरुआत। पूर्व से ही सरकार ने ई-राहत योजना की शुरुआत की है, जो राज्‍य की जनता को जल्‍द से जल्‍द राहत पहुंचाने की ओर एक सकारात्‍मक कदम था। इन योजनाओं की सफलता एवं अधिक से अधिक लोगों को योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए व्‍यापक प्रचार-प्रसार की जरूरत है। मुख्‍यमंत्री ने  गोल्‍डेन ऑवर सिस्‍टम से जुड़े सभी 25 अस्‍पतालों की सराहना करने हुए कहा कि इनके सहयोग से ही इस सिस्‍टम को सफल बनाया जा सकता है। उन्‍होंने कहा कि सरकार राज्‍य में टॉल फ्री 108 डायल कर एंबुलेंस सिस्‍टम को लागू करने की दिशा में आगे बढ़ रही है। इस अवसर पर विस अध्‍यक्ष शशांक शेखर भोक्‍ता ने कहा कि गोल्‍डेन ऑवर सिस्‍टम एक नई शुरुआत है। यह इस बात का संकेत है कि रांची की जनता मानवता के प्रति संवेदनशील है। उन्‍होंने कहा कि इस सिस्‍टम के माध्‍यम से यदि हमलोग दुर्घटनाग्रस्‍त लोगों की जान बचा पाते हैं, तो इस व्‍यवस्‍था का उद्देश्‍य पूरा होगा। मौके पर पूर्व विस अध्‍यक्ष सह विधायक सीपी सिंह, उप महापौर संजीव विजयवर्गीय, गृह विभाग के प्रधान सचिव एनएन पांडेय, डीजीपी राजीव कुमार आदि मौजूद थे।

Lensman :: Amit, Ranchi.
Text Source :: IPRD, Jharkhand

Share

Leave a Reply