Latest News Top News

ईदगाह :: प्रेमचंद की कहानी का नाट्य रूपांतर

19-Natak-03 19-Natak-01 रांची, झारखण्ड | 19 जुलाई 2015  ::ईदगाह  प्रेमचंद की कहानी का नाट्य रूपांतर है जिसे नाट्य रूपांतर कुमार संजय ने किया था।
ईद के अवसर पर मेला लगा है जिसमें जाने की जिद हामिद अपनी दादी से करता है तब दादी उसे मिठाई खाने के लिए पैसे देती है। हामिद के सभी दोस्त मेले में मज़े करते है परंतु हामिद अपनी दादी के लिए चिमटा खरिद कर घर ले जाता है क्योंकि दादी का हाथ रोटी बनाते वक़्त कई बार जल जाया करता था।
ईदगाह में विनोद जायसवाल, मुकेश तिवारी, सुजीत, बाला जी अग्रवाल, कुंदन पाठक एवं कामिनी ताम्रकार ने अभिनय किया।
19-Natak-02दूसरा नाटक विषपान जिसके नाटककार अशोक पागल है  विषपान शंकर नामक युवक की कहानी है जो पढ़ने लिखने में काफी तेज़ है परंतु उसे नौकरी नहीं मिलती और उसके बचपन का मित्र दीन उसकी गरीबी का फायदा उठाकर अपने गलत काम को शंकर के नाम कर देता है जिससे शंकर के पिता अपमानित महसूस कर आत्महत्या कर लेते है शंकर की माँ काफी मेहनत कर शंकर को पढ़ती है परंतु नौकरी नहीं मिलने की वज़ह से शंकर रात में रिक्शा चलाकर  गुजारा करता है जिसे एक दिन दीन ड्रग्स के काम में फ़सा देता है जिसे पुलिस पकड़ लेती है इधर इलाज़ के अभाव में शंकर की माँ दम तोड़ देती है ।
नाटक में समीर सौरभ, मधु, विनोद, अनुज मानकी, अमित उत्सव, ने अभिनय किया नाटक में निर्देशन ऋषिकेश लाल का था

Share

Leave a Reply