ई -डिस्ट्रिक आमजनों के लिए महत्वपूर्ण सेवा : रघुवर दास [ मुख्यमंत्री, झारखण्ड ]
Latest News Top News

ई -डिस्ट्रिक आमजनों के लिए महत्वपूर्ण सेवा : रघुवर दास [ मुख्यमंत्री, झारखण्ड ]

 ई -डिस्ट्रिक आमजनों के लिए महत्वपूर्ण सेवा : रघुवर दास [ मुख्यमंत्री, झारखण्ड ] राँची, झारखण्ड 24 मार्च 2015 :: झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज प्रोजेक्ट भवन स्थित सभा कक्ष में ई-नागरिक सेवा का आॅनलाईन शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि ई -डिस्ट्रिक सेवा आमजनों के लिए एक महत्वपूर्ण सेवा है। इससे आम जनता को योजनाओं का लाभ प्रखण्ड एवं ग्राम पंचायत स्तर पर आॅनलाईन व ससमय प्राप्त होगी। फिलहाल इसकी शुरूआत राज्य के दो जिलों रामगढ़ एवं हजारीबाग में की गई है। मुख्यमंत्री ने रामगढ़ के गोला प्रखण्ड के मिथिलेष कुमार रविदास, प्रेमचंद कुमार रविदास एवं हजारीबाग के ईचाक प्रखण्ड के संजय मेहता एवं मोहम्मद इमरान को आॅनलाईन ई-प्रमाण पत्र दे कर इसका शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि क्रमबद्ध तरीके से राज्य के अन्य जिलों को भी ई. नागरिक सेवा के साथ जोड़ने की आवश्यकता है। ई -डिस्ट्रिक आमजनों के लिए महत्वपूर्ण सेवा : रघुवर दास [ मुख्यमंत्री, झारखण्ड ]बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान समय में राज्य में आई.टी. के क्षेत्र को विस्तार देने एवं आई.टी. आधारित आधुनिकीकरण की आवश्यकता है। ई-नागरिक सेवा के माध्यम से सुदूरवर्ती गांवों में एवं पंचायत स्तरों में प्रमाण पत्र इत्यादि प्राप्त करने से संबंधित सुविधा होगी। आवेदक स्वयं आॅनलाईन फाॅर्म भर सकेंगे एवं अपने प्रमाण पत्र स्वयं ले सकेंगे। अनावश्यक रूप से होने वाली परेशानी से वह बच सकेंगे एवं कम समय में वे प्रमाण पत्र ले सकेंगे। ई -डिस्ट्रिक आमजनों के लिए महत्वपूर्ण सेवा : रघुवर दास [ मुख्यमंत्री, झारखण्ड ]सूचना एवं प्रौधिगिकी विभाग द्वारा आयोजित इस बैठक में ई-डिस्ट्रिक से संबंधित विस्तृत प्रजेंटेशन प्रस्तुत किया गया। प्रधान सचिव सूचना तकनीक एन.एन. सिन्हा ने बताया कि देश का यह महत्वपूर्ण मिशन मोड प्रोजेक्ट है जिसमें पाएलेट प्रोजेक्ट के तहत चयनित जिलों में ई-नागरिक सेवा की शुरूआत की गई है। ई-नागरिक सेवा में कुल 30 सेवाएं हैं, फिलहाल राज्य में 5 सेवा को ई-नागरिक सेवा से जोड़ा गया है। अन्य पर शीघ्र कार्रवाई की जाएगी। ई-नागरिक सेवा के तहत वर्तमान समय में आय प्रमाणपत्र, जाति प्रमाणपत्र, जन्म प्रमाणपत्र, मृत्यु प्रमाणपत्र इत्यादि आॅनलाईन व ससमय निर्गत करने का कार्य प्रारम्भ किया जा चुका है। पूर्व में निर्गत प्रमाण पत्रों का भी डिजिटाईजेशन किया जा रहा है ताकि पूर्व में निर्गत प्रमाण पत्र की प्रति भी सुविधाजनक तरीके से निकाले जा सके।

बैठक में मुख्य सचिव राजीव गौबा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव संजय कुमार, प्रधान सचिव वित्त विभाग श्रीमती राजबाला वर्मा, प्रधान सचिव कार्मिक एवं प्रशासनिक सुधार विभाग, एस. के. सत्पथी सहित वरीय पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

ई-डिस्ट्रिक्ट
ई-डिस्ट्रिक्ट परियोजना ई-गवरनेन्स योजना के अर्न्तगत चलने वाली स्टेट मिशन मोड परियोजना है जिसका मुख्य उदेश्य जन केन्द्रित सेवाओ को कम्पयूटरीकरण करने का है। इस परियोजना में सम्पूर्ण व्यवस्था क्रम को कम्पयूटराइज किया गया है । ई-डिस्ट्रिक्ट परियोजना भारत सरकार द्वारा पोषित परियोजना है,जिसमें कि प्रमाण पत्र,शिकायत ,जन वितरण प्रणाली ,पेन्शन ,विनमय,खतौनी,राजस्व वाद एवं रोजगार केन्द्रो मे पंजीकरण संबंधी सेवाओं को सम्मिलित किया गया है। इन सभी सेवाओं का हस्तान्तरण जन सुविधा केन्द्र के माघ्यम से किया जायेगा ।

Share

Leave a Reply