झारखण्ड की संस्कृति और अस्मिता से नहीं होगा समझौता : सुदेश कुमार महतो [ अध्यक्ष, आजसू पार्टी ]

झारखण्ड की संस्कृति और अस्मिता से नहीं होगा समझौता : सुदेश कुमार महतो [ अध्यक्ष, आजसू पार्टी ]पतरातु, झारखण्ड 09 फरवरी 2015 :: आजसू पार्टी के पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार पतरातु में केंद्रीय सभा की बैठक स्वातंत्रता सेनानी तेलंगा खडिया की जयंती के अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि देने के साथ शुरू हुई। केंद्रीय सभा को सम्बोधित करते हुए पार्टी अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने राज्य भर से आए पार्टी के कार्यकर्ताओं एवं नेताओं को पार्टी संगठन केा मजबूत करने के लिए राज्य के 32 हजार गांव में जाकर जनता से संवाद बनाने का निर्देश दिया। श्री महतो ने कहा की पार्टी अपने शहीदों और पूर्वजो के आदर्श को सामने रखते हुए बेहतर झारखण्ड का संकल्प लेने के लिए हम यहां उपस्थित हुए हैं। जन गन की सुरक्षा करना हमारी प्राथमिकता है। जनगण की मनोभावनाओं और पार्टी तथा सरकार के साथ समन्वय स्थापित करने के लिए ही वर्ष 2015 को जनजागरण वर्ष घोषित किया गया है।

राज्य बनने से 14 वर्ष पूर्व हमने अपनी पहचान के लिए अलग झारखण्ड राज्य का आंदोलन चलाया है और आज राज्य बनने के 14 वर्षो के बाद भी हम अपनी पहचान ढुढ़ने में लगें हैं। आज की राजनीतिक रफतार में अपनी पहचान की सूरक्षा करना हमारी पहली जरूरत है। झारखण्ड मेरी आन, मेरी शान और पहचान के नारे के साथ आजसू पार्टी आगे बढ़ेगी। एक साल के अंदर जन जागरण के साथ झारखण्ड के सभी गांवों में पार्टी संगठन केा पहुंचाना है। झारखण्ड की वास्तविकता को स्थापित करना पूर्वजों के संघर्ष को सभी गांवो तक पहुचाने का काम हमें करना है।

हर राज्य का अपना परिचय है हमारी भी अपनी पहचान होगी। हमारी भाषा, संस्कृति और पहचान के लिए संघर्ष करने की जरूरत है। आजसू पार्टी सड़क से सदन तक संघर्ष करेगी और झारखण्ड की जनता का हक दिलाएगी।

सभा को सम्बोधित करते हुए पार्टी के विधायक दल के नेता एवं मंत्री चंद्र प्रकाश चैधरी ने कहा कि राज्य में स्थाई सरकार बनी है तो जनका की उम्मीदें भी बढ़ी है। हम अपनी भूमिका को बेहतर समझते है। इसी जिम्मेवारी के साथ झारखण्ड की समस्याओं के समाधान का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव में गठबंधन से हमारा नुकसान हुआ है ऐसा हम महसूस करते हैं लेकिन उसकी भरपाई भी हमें ही करनी है।

विधायक राजचंद्र सहिस ने कहा कि राज्य बनाने के लिए आजसू पार्टी ने त्याग दिया है अलग राज्य के नवनिर्माण के लिए भी आजसू पार्टी त्याग करेगी। आजसू पार्टी के अलग राज्य के मकसद को जरूर पूरा किया जाएगा।

विधायक कमलकिशोर भगत ने कहा कि झारखण्ड की जनता की हक और अधिकार के लिए हमारा आंदोलन जारी रहेगा। राज्य की स्थानीय नीति, विस्थापन नीति, रोजगार नीति एवं अन्य नीतियों के बारे हमें गंभीरता से सोचना पडेगा।

सभा को विधायक राजकिशोर महतो, विधायक विकास मुण्डा, पूर्व विधायक उमाकांत रजक, पार्टी उपाध्यक्ष हसन अंसारी, बी. के. चांद, डोमन सिंह मुण्डा, प्रभाकर तिर्की, अजय मलकानी पूर्व विधायक लोकनाथ महतो के अलावा झारखण्ड छात्र संघ के हरिश कुमार, श्रमिक संघ के डी के राय, मिडिया संयोजक शिव शंकर प्रसाद, विनय भरत तथा अध्यक्ष श्रीमती वायलेट कच्छप ने भी संबोधित किया।

केंद्रीय सभा की शुरूवात में पार्टी के रामगढ़ जिला प्रभारी रोशनलाल चैधरी ने सभी आए हुए प्रतिनिधियों का स्वागत किया। डाॅ देवशरण भगत ने केंद्रीय सभा के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए बैठक का संचालन किया। धन्यवाद ज्ञापन विजय साहु ने किया।

लोकनाथ महतो को प्रदेश किसान मंच का अध्यक्ष नामित किया गया। केंद्रीय सभा में प्रमंडलिय प्रभारियों के अलावा सभी जिलों के प्रभारी, प्रखण्ड प्रभारी पार्टी के अनुसंगी इकाईयों, छात्र संघ, महिला संघ, श्रमिक संघ, अधिवक्ता संघ तथा पार्टी की केंद्रीय समिति के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply