Lens Eye - News Portal - तीन दिवसीय पैक्स जनउत्सव का समापन.
Latest News Top News

तीन दिवसीय पैक्स जन उत्सव का समापन.

Lens Eye - News Portal - तीन दिवसीय पैक्स जनउत्सव का समापन.रांची, झारखंड 20 फरवरी 2014 ::जन उत्सव के आज तीसरे दिन कार्यक्रम का समापन किया गया. जन उत्सव के समापन समारोह को संबोधित करते हुए पैक्स के निदेशक राजन खोसला ने कहा कि झारखंड में तीन दिवसीच समरोह का आयोजन किया गया. झारखंड में इस कार्यक्रमों से पांच हजार से ज्यादा लोगों को जानकारी दी गयी है. झारखंड में आरएसबीवाई, मनरेगा आदि योजनाओं से आम लोगों को लाभ मिलेगी. इस कारण हमें इन योजनाओं को आम आदमी तक पहुंचाना है. हमारी कोशिश रहेगी लोगों में जागरूकता हो. पैक्स झारखंड के 13 जिलों में काम कर रहा है. कई संगठनों को क्षमता प्रदान कर रहा है. झारखंड के जनजातीय जिलों में काम करने का तात्पर्य आम लोगों का विकास सरकार और संस्थाओं के सहयोग से हो. सरकार हमारी सहयोग कर रही है.

इस मौके पर पैक्स के स्टेट मैनेजर जॉनसन टोपनो ने कहा कि जन उत्सव से संस्थाओं में एक अच्छा संदेश जा रहा है. हमें इसे बरकरार रखना होगा. पैक्स ने मनरेगा के तहत काम मांगों अभियान के तहत लगभग एक लाख लोगों ने काम मांगे है. यह हमारे द्वारा समाज में जागरूकता पैदा करने से ही हो पाया है. हमें झारखंड को आगे ले जाना है, समृद बनाना है. आगे विकास हो, इसके लिए हमें एकजुट कर काम करना है.

आएसबीवाई के प्रोग्राम मैनेजर अनु ने कहा कि आम लोगों को इस योजना का लाभ हो, इसके लिए हमने आरएसबीवाई मित्र का गठन किया है. हमारे पश्चिमी सिंहभूम जिलों में 300 से ज्यादा आरएसबीवाई मित्र बनाये गये हैं. इसका एकमात्र उद्देश्य लोगों को लाभ पहुंचाना है. सरकार ने आम लोगों के स्वास्थ्य योजना का लाभ मिले इसके लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना लांच किया है.

पैक्स के धीरज कुमार होरो ने कहा कि मनरेगा महत्वाकांक्षी योजना है. अगर इसे धरातल पर ईमानदारी पूवर्क लागू कर दिया जाये, तो राज्य से पलायन में कमी आयेगी. लोग अपने क्षेत्र में ही काम करेंगे. हम सोशल आॅडिट के बारे में भी लोगों को जानकारी देते हैं. झारखंड के जनजातीय जिलों में भी हम काम कर रहे हैं. पाकुड और पश्चिमी सिंहभूम व पलामू के सुदूरवर्ती क्षेत्रों में काम कर रहे हैं. मनरेगा का अनुपालन हो, इसके लिए जागरूक किया जा रहा है.

इस मौके पर पैक्स के पार्टनर चेतना विकास, एफिकोर, बदलाव फाउंडेशन, विकास फाउडेंशन, शेयर, ग्रामदोय चेतना केंद्र, श्रमजीव महिला समिति, झारखंड किवास परिषद, नया सेवरा विकास केंद्र, एकजुट, प्रेरणा भारती, एआइडी, फीमेल, लोक चिराग सेवा संस्था व आसरा सहित कई समुहों के प्रतिनिधियो ने भाग लिया. इस कार्यक्रम में लगभग पांच हजार प्रतिनिधियों ने कल्याणकारी योजनाओं के बारे में विस्तारपूवर्क बताया.

Leave a Reply