Top News

नवीन आयुर्वेद चिकित्सालय के प्रांगण में वृक्षारोपण

दमोह,मध्यप्रदेश 05 अगस्त 2013 :: स्वास्थ्य सेवाओं में आयुर्वेद चिकित्सकों का उत्कृष्ठ योगदान रहता है, वह विषम से विषम परिस्थितियों में  पीडित मानवों की सेवाओं में लगे हुये हैं इनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। यह बात जिले के कलेक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह ने कही। स्थानीय किल्लाई नाके के पास नवीन आयुर्वेद चिकित्सालय के विशाल प्रांगण में हरियाली अमावश्या की पूर्व संध्या पर आयोजित वृक्षारोपण तथा विभागीय कार्यक्रम के दौरान जिले भर  से उपस्थित चिकित्सकों एवं कर्मचारियों को संबोधित करते हुये इन्होने कहा कि वृक्ष लगाने का भी अपना अलग महत्व है उसके जैसे पूण्य कार्य दूसरा नहीं, उसको लगाने और संरक्षण करने की जबाबदारी लेना यह भी एक सराहनीय कार्य है। आयुर्वेद को महान पैथी बतलाते हुये इस विषय में भी  विस्तार से बात रखी। वहीं डा. एल.एन.वैष्णव ने संचालन के दौरान कुछ महत्वपूर्ण बिन्दुओं की ओर कलेक्टर महोदय का ध्यानार्षित कराया था जिसको तत्काल हल करने का आश्वासन मिला । कार्यक्रम में उपस्थित होने के पूर्ण कलेक्ट्रर स्वतंत्र कुमार सिंह  ने शमी वृक्ष तो जिला पंचायत के सीईओ डा.जगदीश चंद्र जटिया, जिला आयुर्वेद अधिकारी डा. कु. अलका जैन, पूर्व जिला आयुर्वेद अधिकारी डा. अनिल चैधरी, डा. वैष्णव ने पारिजात, अशोक एवं आंवला के वृक्षों को रोपित किया। इस अवसर पर उक्त पौधों के अलावा करंज, नीम, जामुन, शीशम, मीठी नीम, बहेडा, हर्रड, बहेडा एवं वेल के पौधों को लगाया गया है।

Leave a Reply