पर्यटन संरचना के विकास पर तीन वर्ष में रू 2903 करोड़ स्वीकृत हुए
Latest News Top News

पर्यटन संरचना के विकास पर तीन वर्ष में रू 2903 करोड़ स्वीकृत हुए

पर्यटन संरचना के विकास पर तीन वर्ष में रू 2903 करोड़ स्वीकृत हुएरांची, झारखंड 11 दिसंबर 2014 :: देश में पर्यटन संरचना विकास के लिए केंद्र सरकार ने 2012 – 13 से तीन साल में रू 2903.19 करोड़ जारी किया है। इसमें से झारखंड की दो परियोजनाओं के लिए रू 53.86 करोड़ स्वीकृत हुआ था। राज्यसभा सदस्य श्री परिमल नथवाणी के एक सवाल पर केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री ( स्वतंत्र प्रभार ) डा महेश शर्मा ने राज्यसभा में यह जानकारी दी है।

श्री परिमल नथवाणी ने जानना चाहा था कि पिछले दो वर्ष और चालू वर्ष में पर्यटन संरचना के लिए कितनी परियोजनाओं को स्वीकृति मिली और कितनी वित्तीय राशि स्वीकृत हुई। इसके अलावाए क्या पर्यटन संरचना विकास पर निवेश के लिए कोई विशेष योजना और पर्यटन स्थल विकास के लिए कोई राशि तय की गई हैघ् उत्तर मेंए मंत्री ने यह भी बताया कि केंद्र सरकार ने पर्यटन विकास के लिए 50 सर्किटध्डेस्टिनेशन (पर्यटन गंतव्य इलाका ) चिन्हित किया और उसपर सहमति के लिए संबंधित राज्यध्केंद्रशासित प्रदेश के पास अग्रसारित कर दिया है।
पर्यटन संरचना के विकास पर तीन वर्ष में रू 2903 करोड़ स्वीकृत हुएअपने उत्तर में मंत्री ने जानकारी दी कि उन 50 सर्किटध्डेस्टिनेशन में से एक झारखंड में और दो गुजरात में अवस्थित हैं। झारखंड में चुने गए सर्किट के अंतर्गत देवघर ( बासुकीनाथए बैद्यनाथ धाम, नौलखा मंदिर, त्रिकूट, तपोवाद्ध, गिरिडीह ( हरिहर धाम, खंडोली, उसरी जलप्रपात ) खंडोली, पारसनाथ मंदिर/ध्मधुबन ) उसरी, पारसनाथ, तोपचांची (तोपचांची वन्यजीवन अभयारण्य व जलाशय ) एवं धनबाद ( मैथन ) शामिल हैं। जबकि गुजरात में चिन्हित दो पयर्टन सर्किट में शामिल हैं (1) द्वारिकाए बेट द्वारिकाए गोपी तालाब और नागेश्व र एवं ( 2 ) गिर ( गिर नेशनल पार्क व वन्यजीवन अभयारण्य ) सोमनाथ ( सोमनाथ तट, सोमनाथ मंदिर, त्रिवेणी तीर्थ ) अहमदपुर मंडवी ( अहमदपुर मंडवी तटद्ध एवं जूनागढ़ ;उपरकोट व अन्य इलाके )

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने 2012-13 में 153 पर्यटन संरचना परियोजनाओं के विकास के लिए रू 1033.34 करोड़, 2013-14 में 226 परियोजनाओं के लिए रू 166.85 करोड़ और चालू वित्तीय वर्ष में 30 परियोजनाओं के लिए रू 205 करोड़ आबंटित किया है।

डा शर्मा ने यह भी जानकारी दी कि तीर्थस्थल पुनरूद्धार व आध्यात्मिक विकास अभियान के राष्ट्रीय मिशन (पीआरएएसएडीध्प्रसाद) की घोषणा की गई है। इसके लिए सभी धर्मों के तीर्थस्थलों की आधारभूत संरचना के सौंदर्यीकरण व जनसुविधा विकास के लिए बजट में रू 100 करोड़ उपलब्ध कराया गया है। मंत्री ने कहा कि इसके अलावा देश के पांच पर्यटन सर्किट में विशिष्ट ष्थीमष् ( विषय वस्तु ) के तहत विकास के लिए वर्ष 2014.15 के बजट में रू 500 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

Share

Leave a Reply