संजय राठी
Latest News Top News

हिन्दी के अखबारों के माध्यम में राष्ट्रीयता की भावना का प्रसार होता है :: संजय राठी [ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स ]

 संजय राठीरोहतक, हरियाणा मई 30, 2015 :: हरियाणा यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के प्रदेशाध्यक्ष एवं नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संजय राठी ने हिन्दी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर मीडियाकर्मियों को शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि पूरे देश में हिन्दी पत्रकारिता के प्रति शासक व प्रशासक वर्ग का दृष्टिकोण उपेक्षापूर्ण रहा है। आज भी देश का अभिजात्य वर्ग अंग्रेजी के ही अखबार पढ़ता है। जबकि हिन्दी के प्रति उनका प्रेम हिन्दी दिवस तक ही सिमट कर रह गया है। हिन्दी के अखबारों की पहुंच आज भी देश के मेहनतकशों तक नहीं हो पायी है।
एन.यू.जे. के राष्ट्रीय सचिव संजय राठी ने कहा कि हिन्दी अखबारों के प्रति सरकार को अपनी सोच बदलनी चाहिये तथा हिन्दी पत्रकारिता के विकास को प्राथमिकता देनी चाहिये। उन्होंने कहा कि हिन्दी देश की आम जनता की भाषा है। इसीलिये हिन्दी के अखबारों के माध्यम में राष्ट्रीयता की भावना का प्रसार होता है। जब हिन्दी पत्रकारिता पूर्ण रूप से विकसित नहीं होती थी तब तक देश की एकता व अखण्डता पर हमले होते रहेंगे। हिन्दी पत्रकारिता देश की आत्मा है और इसका विकास ही राष्ट्र का सही विकास को गति प्रदान करेगा।
यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष संजय राठी ने मीडियाकर्मियों से हिन्दी पत्रकारिता दिवस को संकल्प दिवस के रूप में मनाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि पत्रकारों की एकता ही उन्हें शोषण से मुक्ति दिला सकती है। मीडिया उद्योग में बढ़ती हुई मुनाफाखोरी के चलते हिन्दी पत्रकारिता में अपेक्षाकृत वेतनमान नहीं दिये जा रहे हैं। मजीठिया वेज बोर्ड की रिपोर्ट अभी तक लागू नहीं की जा सकी है। पेड़-न्यूज के चलते पूरे मीडिया जगत की प्रतिष्ठा पर प्रश्रचिन्ह लग गया है। उन्होंने कहा कि संगठन ही लोकतन्त्र में अधिकारों के लिये एकमात्र संवैधानिक मार्ग है। इसलिये हम सभी को संगठित होकर अपने अधिकारों के लिये लडऩा होगा।

Share

Leave a Reply