दैनिक राशिफल : दिनांक 04 अप्रैल  2017, दिन मंगलवार ::  ज्योतिष शास्त्री डॉ सुनील बर्मन ( स्वामी दिव्यानंद )

Sunil Burmanरांची, झारखण्ड । अप्रैल  | 04, 2017 :: ज्योतिष शास्त्री डॉ सुनील बर्मन ( स्वामी दिव्यानंद ) के अनुसार दैनिक राशिफल : दिनांक 04 अप्रैल  2017, दिन मंगलवार

मेष- भाईयों के सहयोग से कोई बिशेष लाभ प्राप्त होगा, ब्यापार के क्षेत्र में थोडी अडचनों के बाद खास लाभ मिलेगा, मंदिर में सूप दान करना अच्छा रहेगा।

वृष- अचानक कहीं से धन प्राप्ति के योग बनते हैं, अतिथी सत्कार के भी सुअवसर प्राप्त होंगे, जीवन साथी की थोडी उग्रता का भी सामना करना पड सकता है।

मिथुन- दिनचर्या अत्यंत ही अच्छा रहेगा, राजपाठ में लगे लोगों के लिये तो उत्तम योग बनते हैं, ब्यापार के क्षेत्र में अच्छा फल मिलेगा।

कर्क- शुभ कार्य के पीछे धन ब्यय होंगे, दैनिक ब्यवसाय के मामले में बिशेष लाभ प्राप्ति के योग बनते हैं, मन में थोडी मलीनता रह सकती है।

सिंह- चहुंओर लाभ एवं उन्नती का आलम रहेगा, आय एवं लाभ के मार्ग और सुदृढ होंगे, प्रेम प्रसंग के मामले में उन्नती के योग बनते हैं।

कन्या- नौकरी के क्षेत्र में पदोन्नती के प्रबल अवसर हैं, दाम्पत्य जीवन में प्रेम सामंजस्य का बिशेष भाव रहेगा, खान पान में सावधानी बरतनी चाहिये।

तुला- भाग्योन्नती के प्रबल अवसर बनते हैं पुरुषार्थ करके लाभ उठावें, पराक्रम के कारण सफलता हाथ लगेगी, उचित निर्णय के कारण रुके हुवे कार्य बनेंगे।

बृषिचक- आयुष्य लाभ प्राप्त होगा, कुटुंब के माध्यम से भी लाभ प्राप्त होगा, बिद्यार्थियों के लिये भी खास अवसर है कि अपने क्षेत्र में उन्नती करें।

धनु- मन आनन्दित एवं प्रफुल्लित रहेगा, दैनिक रोजगार के क्षेत्र में बिशेष उन्नती के योग हैं बस आपको लाभ उठाना है, श्री हरी का स्मरण करते रहें।

मकर- आप शांत रहें शांती नीति को अपनायें देखेंगे शत्रु शांत हो जायेंगे, यदि आपने कहीं लोन की अर्जी दे रखी है तो वो भी आपका काम तय है।

कुंभ- बिद्यार्थियों के लिये स्वर्णिम अवसर है वे अपने भविष्य के लिये नींव तैयार कर लें, रची गयी सारी योजनायें धरातल पर नजर आयेंगी यदि आप चाहें।

मीन- माता के माध्यम से कोई बिशेष लाभ मिलेगा, पिता के स्वास्थ्य में अचानक सुधार की आशा की जा सकती है, स्वरोजगार से जुडे जातकों के लिये भी अच्छा समय है।

———————————————————- ——
तिथी – अष्टमी दिवा 02.44 पर्यन्त, उपरान्त नवमी
पक्ष – शुक्ल

मास – चैत्र

विक्रम संवत – 2074

शकसंवत – 1939

नक्षत्र – पुनर्वसु रात्री 02.11 पर्यन्त, उपरान्त पुष्य

दिशाशूल – उत्त्र एंव वायब्य की यात्रा ना करें, आवश्यक हो,
तो गुड ग्रहण कर घर से निकलें,

राहूकाल – 03.00 से 04.30

चैघडिया मुहूर्त – चल — 09.58 से 11.35

लाभ — 11.36 से 01.13

अमृत — 01.14 से 02.49

शुभ — 04.26 से 06.03

जन्मदिन मंगलम- श् 4 श्

अंक ज्योतिष के अनुसार- स्वामी ‘‘ हर्षल ‘‘ हैं।

शुभ व्यवसाय- शराब, स्प्रीट, टाइपिस्ट, छपाई, खनिज,
ठेकेदारी, रेलवे, सरकारी सहायक आदि।

व्रत- गणेश चतुर्थी।

शुभ मंत्र- ॐ गं गणपतये नमः।
देव- गणपति महाराज।
आज का व्रत त्योहार/खास – भानु सप्तमी।

डा. स्वामी दिब्यानन्द (डा. सुनिल बर्मन) 9431108333

Leave a Reply