दैनिक राशिफल : दिनांक 13 अप्रैल  2017, दिन गुरुवार ::  ज्योतिष शास्त्री डॉ सुनील बर्मन ( स्वामी दिव्यानंद )

Sunil Burmanरांची, झारखण्ड । अप्रैल  | 13, 2017 :: ज्योतिष शास्त्री डॉ सुनील बर्मन ( स्वामी दिव्यानंद ) के अनुसार दैनिक राशिफल : दिनांक 13 अप्रैल  2017, दिन गुरुवार

मेष- ब्यापार के मामले में बिशेष लाभ प्राप्त होने वाले हैं, चहुंओर लाभ एवं उन्नती के ही योग बनते हैं, पत्नी के स्वास्थ्य में बिशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

वृष- छल बल दोनों के प्रयोग से शत्रु का शमन होगा, ब्यापारिक स्थल में थोडी साज सज्जा की आवश्यकता है ताकि ग्राहकों का ध्यान आपकी ओर आकृष्ट हो।

मिथुन- बिद्यार्थियों को अपने क्षेत्र में बिशेष लाभ मिलने की आशा है वे लगे रहें अपनी धुन में, अपनी सारी ब्यस्तता के बीच थोडा खास समय निकालें किसी खास के लिये।

कर्क- मकान में आज तो एकदम उत्सव का माहौल रहेगा भरपूर मजा लें आप भी, पर दैनिक ब्यवसाय के क्षेत्र में थोडे खास तौर पर केन्द्रित होना पडेगा।

सिंह- भाईयों के साथ बिगडे हुवे संबधों में सुधार आयेगी आपका भी प्रयास होनी चाहिये, आज आपका गुस्सा थोडा ज्यादा ही रहेगा अवश्य नियंत्रण करें।

कन्या- सब कुछ ठिक ठाक रहेगा पर छाती से संबधित कोई परेशानी हो सकती है आदित्य हृदय स्त्रोत का पाठ करना श्रेयस्कर होगा, दाम्पत्य जीवन में आनन्द रहेगा।

तुला- थोडी परेशानी अवश्य आयेगी आप बिल्कुल विचलित ना हों धैर्यपूर्वक अपना कार्य करते जायें आशातित लाभ अवश्य प्राप्त होंगे।

बृषिचक- मन में रोमांस का भूत सवार रहेगा इंज्वाय अवश्य करें पर उद्येश्य से एकदम ना भटकें, आपका प्रयास मंजिल तक अवश्य पंहुचायेगा, माता लक्ष्मी का ध्यान करें।

धनु- धनागम के नये श्रोत खुलने वाले हैं आपका साकारात्मक प्रयास रंग लायेगा, श्री हरी बिष्णु जी का स्मरण करके श्रीगणेश करें सब मंगल होगा।

मकर- बडा स्वप्न देखें तथा उनके अनुरुप कार्य का प्रयास भी करें सफलता अवशयंभावी है, शौक मौज के पीछे के खर्च में थोडी कटौती आवश्यक है।

कुंभ- उद्योग धंधे में लगे जातकों के लिये तो स्वर्णिम समय है जितना लाभ उइा सकते हैं उठा लें, बस पत्नी से सावधान रहें क्योंकि उनका गुस्सा सातवें आसमान पर रहेगा उनका भी ख्याल रखें।

मीन- जीवन साथी को चोट आपरेशन आदि के योग बनते हैं जितना आप सावधान रख सकते है रखें बाकी भगवान से प्रार्थना करें।
——————————————————– ——
तिथी – द्वितिया दिवा 01.11 पर्यन्त, उपरान्त तृतिया
पक्ष – कृष्ण

मास – वैशाख

विक्रम संवत – 2074

शकसंवत – 1939

नक्षत्र – स्वाती प्रातः 06.27 पर्यन्त, उपरान्त विशाखा

दिशाशूल – दक्षिण एंव अग्नि की यात्रा ना करें, आवश्यक हो,
तो जीरा ग्रहण कर घर से निकलें,

राहूकाल – 01.30 से 03.00

चैघडिया मुहूर्त – शुभ — 06.26 से 08.07

चल — 11.30 से 01.11

लाभ — 01.12 से 02.52

अमृत — 04.50 से 06.31

जन्मदिन मंगलम- श् 4 श्
अंक ज्योतिष के अनुसार- स्वामी ‘‘ हर्षल ‘‘ हैं।

शुभ व्यवसाय- शराब, स्प्रीट, टाइपिस्ट, छपाई, खनिज,
ठेकेदारी, रेलवे, सरकारी सहायक आदि।

व्रत- गणेश चतुर्थी।

शुभ मंत्र- ॐ गं गणपतये नमः।
देव- गणपति महाराज।
आज का व्रत त्योहार/खास – कोई खास नहीं।

डा. स्वामी दिब्यानन्द (डा. सुनिल बर्मन) 9431108333

Leave a Reply