Phorography Workshop
Latest News Top News

इस तरह के फोटोग्राफी वर्कशॉप से यहाँ के युवाओं का कौशल विकास होगा :: डॉ॰ रमेश कुमार पाण्डेय [कुलपति, राँची विश्वविद्यालय ]

Phorography Workshop राँची, झारखंड | जून | 05, 2016 :: झारखंड सरकार के पर्यटन, कला-संस्कृति, खेलकूद एवं युवाकार्य विभाग (सांस्कृतिक कार्य निदेशालय) के तत्वावधान में आयोजित प्रथम फोटोग्राफी कार्यशाला का उद्घाटन आज दिनांक 05 जून 2016 को ऑड्रे हाउस सभागार में हुआ। राँची विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ॰ रमेश कुमार पाण्डेय, आर.पी. सिंह (विशेष सचिव पर्यटन, कला-संस्कृति, खेलकूद एवं युवाकार्य विभाग) निदेशक संस्कृति अनिल कुमार सिंह, कार्यशाला कॉर्डिनेटर डॉ॰ सुशील कुमार अंकन, वरिष्ठ छायाकार विशु नंदी एवं कुलदीप सिंह दीपक ने संयुक्त रूप से कार्यशाला का उद्घाटन किया।

मुख्य अतिथि राँची विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ॰ रमेश कुमार पाण्डेय ने कहा कि इस तरह का फोटोग्राफी वर्कशॉप से यहाँ के युवाओं का कौशल विकास होगा। आज शिक्षा के हर क्षेत्र में फोटोग्राफी की जरूरत है। इसलिये ही राँची विश्वविद्यालय ने रूपसी फोटोग्राफी क्लब के माध्यम से पीजी के विद्यार्थियों के लिये फोटोग्राफी में कौशल विकास की व्यवस्था की है।

पर्यटन, कला संस्कृति, खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग के विशेष सचिव आर॰ पी॰ सिंह ने अपने युवा जीवन के अनुभवों को बांटा। फोटोग्राफी को दिल के बहुत करीब मानने वाले श्री सिंह ने कहा कि जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बन गया है फोटोग्राफी।

कला-संस्कृति विभाग के निदेशक अनिल कुमार सिंह ने बताया कि इस फोटोग्राफी कार्यशाला में उम्मीद से ज्यादा आवेदन आ गये। कुल 50 सीटें निर्धारित की गई थीं जबकि 100 आवेदन झारखंड के विभिन्न जिलों से प्राप्त हुए। बोकारो, हजारीबाग, गुमला, बेड़ो, जमशेदपुर सहित राँची से सबसे अधिक आवेदन जमा हुए। आवेदकों में लगभग 20 आवेदक ऐसे थे जिनकी तस्वीरें किसी प्रोफेशनल से कम नहीं थी। इसलिये ऐसे आवेदकों के लिये एडवांस फोटोग्राफी कार्यशाला के बारे में सोचा जा सकता है।Phorography Workshopकार्यशाला के कॉर्डिनेटर डॉ॰ सुशील कुमार अंकन ने बताया कि 10 दिनों तक चलने वाले कार्यशाला के लिये आवेदनों की संख्या देखते हुए कहा जा सकता है कि राँची और आस पास के जिलों में फोटोग्राफी के क्षेत्र में जागरूकता काफी बढ़ी है। इस कला को सीख कर ही पोट्रेट, फिल्म, कार्टून, संचार एवं जन सम्पर्क, विज्ञापन, मॉडलिंग, वेडिंग फोटोग्राफी, औद्योगिक फोटोग्राफी, डॉक्यूमेन्ट्री फिल्म आदि के क्षेत्र में युवावर्ग अपना कैरियर बनाने की सोच सकता है। उन्होंने बताया कि इस कार्यशाला में फोटोग्राफी से जुड़ी बेसिक जानकारी दी जायेगी। कैमरा, एक्सपोजर, लाईट, सहित विभिन्न प्रकार की फोटोग्राफी के बारे में बताया जायेगा।

मौके पर उपस्थित नगर के वरिष्ठ छायाकारों में बिजय मित्रा, जगदीश सिंह, अशोक कर्ण, निरंजन कुमार, शिशिर पंडित, संजय बोस, अशोक मेहता आदि ने अपने फोटोग्राफी जीवन के अनुभवों को शेयर किया। कुलदीप सिंह दीपक ने पुराने पुराने कैमरों को दिखा कर प्रशिक्षु विद्यार्थियों को अचंभित कर दिया। कल से दस दिनों तक नियमित कक्षाएँ चलेंगी।

पर्यटन, कला-संस्कृति, खेलकूद एवं युवाकार्य विभाग के द्वारा आयोजित इस प्रथम फोटोग्राफी कार्यशाला के आयोजन से नवोदित फोटोग्राफर्स में काफी उत्साह है। चयनित 50 प्रशिक्षुओं में 15 महिलाएँ हैं और 35 पुरूष हैं। कार्यशाला में श्री निरंजन कुमार, श्रीमती रोज, अजय कुमार, नरेन्द्र कुमार, विरेन्द्र, स्वेता आदि सहयोग कर रहे हैं।

Share

Leave a Reply