झारखण्ड :: महिला दुग्ध उत्पादकों के बीच पुरस्कार वितरण

झारखण्ड :: महिला दुग्ध उत्पादकों के बीच पुरस्कार वितरणरांची, झारखण्ड । दिसम्बर । 19, 2016 :: झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज महिला दुग्ध उत्पादकों के बीच पुरस्कार एवं लाभांष का वितरण किया। उन्होंने रांची की जयमती देवी, लोहरदगा की अनुराधा देवी, चतरा की कंचन देवी तथा देवघर की ज्ञानी देवी को 10-10 हजार रू0, हजारीबाग की कौशिला देवी, लोहरदगा की प्रेमावती देवी, कोडरमा की कंचन देवी तथा गोड्डा की गीतांजली देवी को 7 हजार 5 सौ रू0, रांची की बबीता देवी, लोहरदगा की गायत्री देवी, चतरा की कदमिनी देवी तथा देवघर की निर्मला कुमारी को 5-5 हजार रू0 का चेक दिया। इन दुग्ध उत्पादकों द्वारा एक साल में न्यूनतम दो सौ दिनों तक एक हजार से अधिक लीटर दूध की आपूर्ति मेधा डेयरी को की गई ।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री दास ने कहा कि डेयरी, मुर्गी पालन, बतख पालन, बकरी पालन एवं मत्स्य पालन से गांव में समृद्धि आ रही है। इसमें महिलाएं भी अपना योगदान कर रहीं हैं और आत्मनिर्भर बन रही है। मुख्यमंत्री ने दुग्ध उत्पादकों से आस-पड़ोस के लोगों को विशेषकर गरीब लोगों को भी डेयरी अभियान से जुड़ने के लिए प्रेरित करने को कहा। उन्होंने कहा कि मेधा डेयरी प्लांट के लगने से लोगों को रोजगार मिल रहा है। राज्य के अन्य जिलों में भी डेयरी प्लांट खोलने की कार्रवाई की जा रही है। इससे उन जिलों में भी स्वरोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने दूध उत्पादकों को बछिया पालन के लिए भी प्रोत्साहित किया। इससे भविष्य में खुलने वाले डेयरी के लिए दुग्ध उत्पादकों को गाय उपलब्ध कराए जा सकेंगे।

दुग्ध उत्पादकों ने कहा कि डेयरी से उन्हें आमदनी हो ही रही है तथा परिवार एवं बच्चों का लालन-पालन भी अच्छी तरह से हो रहा है।

पुरस्कार वितरण में मुख्य सचिव श्रीमती राजबाला वर्मा, अपर मुख्य सचिव अमित खरे, मुख्यमंत्री के सचिव सुनील कुमार वर्णवाल सचिव श्रीमती पूजा सिंघल समेत मेधा डेयरी के पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

 

Leave a Reply