​झारखंड सरकार पहले जत्थे में 1000 बुजुर्गों को करवायेगी तीर्थयात्रा : आईआरसीटीसी के साथ एमओयू हुआ साईन

06-Raghuvar-Dasरांची, झारखण्ड । सितम्बर । 06, 2016 :: “झारखंड के बुजुर्गों को तीर्थ यात्रा पर ले जाने का वादा सरकार ने पूरा किया है, और इसके तहत आज आईआरसीटीसी के साथ एमओयु साईन किया है। इस एमओयू के तहत आईआरसीटीसी बुजुर्गों को तीर्थ यात्रा पर ले जाने के साथ साथ उनके रहने, खाने-पीने और उनके स्वास्थ्य का पूरा ख्याल भी रखेगी। सरकार की प्राथमिकता है कि झारखंड राज्य के तीर्थ स्थलों को प्राथमिकता दी जाय” उक्त बातें राजस्व निबंधन, भूमी सुधार, पर्यटन, कला संस्कृति, खेलकूद एवं यूवा कार्य विभाग के  मंत्री  अमर कुमार बाउरी ने कही। उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि सरकार सिर्फ ट्रेन पर ही केन्द्रित नही है बल्कि वैसे जगहों के लिए बस और गाड़ियों की भी व्यवस्था आने वाले समय में की जायेगी जहां ट्रेन रुट उपलब्ध नही है। एक समारोह के दौरान मुख्यमंत्री सभागार में माननीय मुख्यमंत्री के समक्ष एमओयू साइन किया गया।

झारखंड सरकार पहले जत्थे के रूप में नवंबर 2016 में 1000 तीर्थ यात्रियों को ओड़िसा राज्य के पुरी और भुवनेश्वर के मंदिरों की सैर करवायेगी। वही इस योजना के तहत हर साल राज्य और देश के, सभी धर्मों के तीर्थ स्थलों की सैर करवायेगी। इस मौके पर माननीय मुख्यमंत्री ने तीर्थ दर्शन योजना का लोगो(LOGO) का विमोचन भी किया।
इस मौके पर आइआरसीटीसी के सीएमडी डा अरुण कुमार मनोचा ने कहा कि आइआरसीटीसी देश के अन्य राज्यों में भी सफल तीर्थयात्रा करवा रही है और यह पहला मौका है जब झारखंड सरकार के साथ तीर्थ यात्रा दर्शन के लिए करार किया गया है। आइआरसीटीसी सभी तीर्थयात्रियों को सकुशल दर्शन करवाने के लिए कटिबद्ध है।
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास, मुख्य सचिव श्रीमती राजबाला वर्मा, पर्यटन सचिव सतेन्द्र कुमार सिंह, पर्यटन निदेशक प्रसाद कृष्ण वाघमारे, संयुक्त निदेशक  राजीव रंजन के साथ अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply