नवनिर्मित हजारीबाग बरकाकाना रेलखण्ड (57 कि0मी0) का उद्घाटन एवं कोडरमा हजारीबाग पैंसेजर ट्रेन के बरकाकाना तक विस्तारित परिचालन का शुभारंभ

raghubar dasदिल्ली | दिसम्बर | 07, 2016 :: मुख्यमंत्री रघुवर दास ने झारखण्ड में रेल सुविधाओं के विस्तार के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु एवं रेलवे के अधिकारियों को बधाई दी है। नई दिल्ली के रेल भवन में आज नवनिर्मित हजारीबाग बरकाकाना रेलखण्ड(57 कि0मी0) के उद्घाटन एवं कोडरमा हजारीबाग पैसेंजर ट्रेन के बरकाकाना तक विस्तारित परिचालन के शुभारंभ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने ये उद्गार व्यक्त किये। मुख्यमंत्री रघुवर दास, रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु एवं रेल राज्यमंत्री राजेन गोहन ने इस अवसर पर वीडियो लिंक के माध्यम से नवनिर्मित हजारीबाग बरकाकाना रेलखण्ड (57 कि0मी0) का उद्घाटन किया एवं हरी झंडी दिखाकर कोडरमा हजारीबाग पैंसेजर ट्रेन के बरकाकाना तक विस्तारित परिचालन का शुभारंभ किया। हजारीबाग रेलवे स्टेशन पर केन्द्रीय नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हां तथा हजारीबाग के विधायक मनीष जयसवाल द्वारा हरी झंडी दिखाकर हजारीबाग स्टेशन से कोडरमा हजारीबाग पैसेंजर ट्रेन को बरकाकाना के लिए रवाना किया गया।

 इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री दास ने कहा कि झारखण्ड एक समृद्ध और संभावनाओं से भरा प्रदेश है। यहां के लोगों में काफी क्षमता है। उन्होंने कहा कि झारखण्ड राज्य के गठन के बाद भारतीय रेल द्वारा झारखण्ड पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। झारखण्ड में कई नई रेल लाईनों का निर्माण, विस्तार एवं रेलवे परियोजनाओं की शुरूआत की गई है। इस कार्यक्रम के दौरान ही मुख्यमंत्री श्री दास के आग्रह पर रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु ने हटिया-एर्नाकुलम एक्सप्रेस का नाम धरती आबा बिरसा मुण्डा के नाम पर करने की मांग रखी। उन्होंने कहा कि कुछ औपचारिकताओं के बाद हटिया-एर्नाकुलम एक्सप्रेस का नाम धरती आबा एक्सप्रेस कर दिया जायेगा। उन्होंने रेल मंत्रालय से झारखण्ड में कुछ नई ट्रेनों के परिचालन की भी मांग रखी।

         इस अवसर पर रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कोडरमा से हजारीबाग रेलवे लाईन का शुभारंभ फरवरी, 2015 में किया गया था। आज इस रेल पथ का बरकाकाना तक विस्तारीकरण उसी का प्रतिफल है। रेल मंत्री ने कहा कि हजारीबाग में रेलवे लाईन के निर्माण एवं रेल परिचालन शुरू कराने में पूर्व वित्त एवं विदेश मंत्री यशवंत सिन्हां जी का काफी योगदान रहा है। उन्हांने कहा कि इस परियोजना के शुभारंभ में यशवंत सिन्हां के पुत्र और हजारीबाग के सांसद सह केन्द्रीय राज्य मंत्री जयंत सिन्हां की भूमिका भी महत्वपूर्ण है। रेल भवन में आयोजित समारोह को रेल राज्य मंत्री राजेन गोहन ने भी सम्बोधित किया।

        हजारीबाग रेलवे स्टेशन पर आयोजित उद्घाटन सह शुभारंभ कार्यक्रम में मुख्य अतिथि केन्द्रीय नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हां ने कहा कि आज का दिन हजारीबाग के लिए ऐतिहासिक है। कोडरमा-हजारीबाग रेल लाईन का बरकाकाना तक विस्तार इसे झारखण्ड की राजधानी राँची से जोड़ने का भावी संकेत है। उन्होंने कहा कि यह रेलवे लाईन जब झारखण्ड की राजधानी रांची से जुड़ जायेगी तो रांची-हजारीबाग-कोडरमा, गया होते हुए दिल्ली, कलकत्ता के सीधा सम्पर्क में आ जायेगी। उन्होंने कहा कि इस रेलवे लाईन में यात्री रेलों के परिचालन तथा माल ढुलाई से बड़ी मात्रा में रेलवे को राजस्व की प्राप्ति होगी।

        हजारीबाग में आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए विधायक मनीष जयसवाल ने कहा कि इस रेल परिचालन से हजारीबाग के यात्रियों को समय और पैसे की बचत होगी। कम भाड़े में यात्री कोडरमा से बरकाकाना तक यात्रा कर सकेंगे। इसके लिए उन्होंने सांसद सहित रेलवे प्रशासन के प्रति आभार प्रकट किया।

इस अवसर पर मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (निर्माण), पूर्व मध्य रेलवे मनोज झा, पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर के महाप्रबन्धक बीके गायन, पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क पदाधिकारी एके रजक, डीआरएम धनबाद एम.के अखौरी, धनबाद रेल मंडल के जनसम्पर्क अधिकारी संजय प्रसाद, मुख्य प्रचार निरीक्षक संजय सिंह के अलावा हजारीबाग जिला प्रषासन के अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply