ऑक्टेव पूर्वोत्तर मेला :: तीसरा दिन 
Latest News Top News

ऑक्टेव पूर्वोत्तर मेला :: तीसरा दिन 

ऑक्टेव पूर्वोत्तर मेला :: तीसरा दिन रांची । झारखण्ड । दिसम्बर । 06, 2016 :: ऑक्टेव पूर्वोत्तर मेला के तीसरे दिन की शुरुवात रांची कॉलेज और अरगोड़ा मैदान में रोड शो के साथ हुई । रोड शो में कलाकारों ने अपने अपने क्षेत्र के पारंपरिक नृत्य की झलक पेश की। साथ ही लोगो से मेले में भाग लेने का आग्रह भी किया। वही शाम के सांस्कृतिक कार्यक्रम का उद्घाटन रांची के सेंट्रल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफ़ेसर नन्द कुमार यादव ने दीप प्रज्जवलित कर किया। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित दर्शको को संबोधित करते हुए कहा कि सेंट्रल विश्वविद्यालय जल्द ही कला संस्कृति विभाग के साथ विचार विमर्श कर पूर्वोत्तर राज्य के कलाकारों को प्रस्तुति के लिए आमंत्रित करेंगे। वही उन्होंने पूर्वोत्तर राज्य के कलाकारों का झारखण्ड की धरती पर स्वागत करते हुए कहा कि जब भारत राजनितिक तौर पर एक नहीं था तब भी भारत सांस्कृतिक तौर पर एक था। उन्होंने झारखण्ड के कलाकारों से आग्रह किया कि वे पूर्वोत्तर राज्य के कला से सीख लें।

शाम 4 बजे से शुरू हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरुवात झारखण्ड के मुंडारी और छऊ नृत्य से हुई। इसके बाद मणिपुर, असम, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश और त्रिपुरा के कलाकारों ने अपने पारंपरिक नृत्य प्रस्तुत किये। वहीँ लोगों ने मेला में लगे पूर्वोत्तर राज्य के स्टॉल पर खरीदारी की और वहां के व्यंजनों का लुत्फ़ भी उठाया।

कार्यक्रम में रांची उपायुक्त  मनोज कुमार सिंह, नाट्य संगीत में पद्मश्री से सम्मानित सोलमसृंग लेपचा, निदेशक, कला संस्कृति,  ए के सिंह, सहित अन्य गणमान्य अतिथि मौजूद थे।

Share

Leave a Reply