फोटोग्राफी कार्यशाला ::  सातवाँ दिन

Photography Workshop :: Seventh Dayराँची, झारखण्ड । जून । 11, 2016 :: प्रदेश के युवाओं में फोटोग्राफी कौशल का विकास हो सके इसी उद्देश्य से झारखंड सरकार के पर्यटन, कला-संस्कृति, खेलकूद एवं युवाकार्य विभाग (सांस्कृतिक कार्य निदेशालय) ने दस दिवसीय फोटोग्राफी कार्यशाला का आयोजन किया है। यह कार्यशाला आॅड्रे हाउस में दिनांक 5 जून से शुरू होकर 14 जून को समाप्त होगा। गुमला, विसुनपुर, नेतरहाट, बोकारो, पुरूलिया (पश्चिम बंगाल), हजारीबाग, बेड़ो और राँची के 50 युवक-युवतियाँ इस कार्यशाला में फोटोग्राफी के हुनर सीख रहे हैं।

फोटोग्राफी कार्यशाला में आज सातवें दिन राँची के जाने माने कैमरामैन अशोक कुमार मेहता ने प्रतिभागियों को विडियो कैमरा और उसके संचालन के बारे में बताया। कैमरा के विभिन्न पार्ट्स तथा सेन्सर, व्हाईट बैलेंस, एक्सपोजर आदि महत्त्वपूर्ण बिन्दुओं को उन्होंने एकदम सरल भाषा में बताया।

आज की दूसरी कक्षा में डाॅ॰ सुशील कुमार अंकन ने एडोबी प्रिमियर प्रो में विडियो संपादन कैसी की जाती है उसकी बारीकियों के बारे में बताया। फुटेज को टाईमलाइन पर इम्पोर्ट करना, ट्रान्जिशन का उपयोग करना, विडियो इन्सर्ट करना, विडियो के साथ साउन्ड सिन्क करना, म्युजिक तथा ध्वनि प्रभाव के साथ ग्राफिक्स का प्रयोग करना सहित विडियो संपादन के लिये कई जरूरी बातें बताई। संपादन कला को जाने बिना किसी भी फिल्म को दर्शनीय नहीं बनाया जा सकता है।

प्रतिभागियों को प्रैक्टिकल के लिये रिम्स सभागार में हो रहे संगीतमय सांस्कृतिक सह पुस्तक लोकार्पण कार्यक्रम को कवर करने के लिये ले जाया गया। प्रतिभागियों ने कार्यशाला में फोटोग्राफी सीखने के बाद अपनी समझ और सूझ बूझ से उक्त कार्यक्रम को कवर किया।

कल दिनांक 12 जून को सभी प्रतिभागियों को नेचर फोटोग्राफी के लिये पन्द्रह-बीस किलोमीटर के दायरे में किसी प्राकृतिक स्थल पर ले जाया जायेगा। वहाँ सभी प्रतिभागी अपने अपने कैमरे से प्रकृति को कैद करेंगे।

Leave a Reply