कलाकृति स्कूल ऑफ़ आर्ट्स में पांच दिवसीय चित्रकला प्रदर्शनी का शुभारंभ

रांची, झारखण्ड । जनवरी  । 25, 2017 :: कलाकृति स्कूल ऑफ़ आर्ट्स डोरंडा कन्या पाठशाला में कलाकृति आर्ट फाउंडेशन द्वारा स्कालरशिप प्राप्त 31 निर्धन प्रतिभावान छात्राओं द्वारा बनाई गयी पेंटिंग्स की पांच दिवसीय चित्रकला प्रदर्शनी का शुभारंभ आज दिनांक 25 जनवरी को किया गया | इस अवसर पर कलाकृति द्वारा निशुल्क प्रशिक्षण प्राप्त छात्राओं द्वारा बनाई गयी 80 चित्रों को प्रदर्शित किया गया है | इस अवसर पर मुख्य अथिथि श्रीमती पूनम पाण्डेय , अध्यक्ष इप्सोवा ने संस्था के कार्यों की सराहना करते हुवे कहा की – कलाकृति द्वारा विगत 15 वर्षों से सैंकड़ो निर्धन और पिछड़ा वर्ग के छात्राओं को निशुल्क चित्रकला की शिक्षा प्रदान कर रही है | यहाँ से निशुल्क शिक्षा प्राप्त कर छात्राएं कला के क्षेत्र में अपना उज्जवल भविष्य बखूबी संवर रही हैं | संस्था के निदेशक एवं कला शिक्षक धनंजय कुमार ने बताया की कलाकृति स्कूल ऑफ़ आर्ट्स हर वर्ष पेंट योर फ्यूचर स्कॉलरशिप कार्यक्रम के तहत 31 निर्धन प्रतिभावान छात्राओं का चयन कर उन्हें निशुल्क प्रशिक्षण देकर उनके प्रतिभा को निखारने का काम कर रही है | इस प्रदर्शनी में कक्षा 8 से 10 के छात्राओं द्वरा एक वर्ष के प्रशिक्षण के दौरान बनाई गयी चित्रों को प्रदर्शित किया गया है | प्रदर्शनी में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के लिए तन्वी कुमारी और मनस्वी तिग्गा को बेस्ट स्टूडेंट ऑफ़ इयर का का पुरुस्कार दिया गया | प्रदर्शनी में समिलित होने वाले सभी छात्राओं को भी कलाकृति की ओर से पुरस्कृत किया गया | प्रदर्शनी अगले 5 दिनों तक चलेगी जिसका समापन 21 जनवरी को होगा| प्रदर्शनी में बच्चों द्वारा विभिन्न माध्यमों और विषयों पर बनायीं गयी चित्रों को प्रदर्शित किया गया है जैसे, प्राकृतिक दृश, काल्पनिक दृश्य, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ो, कृष्णा , जीव जंतु , पक्षी आदि का चित्रण किया गया है |

कार्यक्रम में विशिस्ट अथिथि के रूप में नेतरहाट विद्यालय के पूर्व कला शिक्षक  राजेंद्र प्रसाद गुप्ता,  डोरंडा बालिका उच्य विद्यालय के ट्रस्टी जीतन राम एवं  गौरी शंकर के अलावा प्रधान्याधापिका श्रीमती काजल मुख़र्जी के अलावा सभी शिक्षक शिक्षिकाएं उपस्थित थीं | कार्यक्रम का संचालन श्रीमती आरती झा ने किया | इस कार्यक्रम को सफल बनाने में विद्यालय की छात्राओं का बहोत योगदान रहा जिसमे रूबी , आरती, तन्वी , कोमल, अंजलि, मनीषा आदि का सहयोग रहा|

Leave a Reply