शीघ्र शुरू होगा फिल्म सिटी का निर्माण कार्य : संजय कुमार

IPRDरांची, झारखण्ड । अक्टूबर । 18, 2016 :: मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सह प्रधान सचिव, सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग संजय कुमार ने आज सूचना भवन प्रांगण में नागपुरी व भोजपुरी भाषा में बन रही फिल्म ‘नाचे नागिन गली – गली’ के मुहूर्त के अवसर पर कहा कि झारखण्ड फिल्म उद्योग के क्षेत्र में नए कीर्तिमान गढ़ने की ओर अग्रसर है| झारखण्ड अपने प्राकृतिक सौन्दर्य और स्थानीय लोगों की कलात्मक अभिरुचि के बल पर फिल्म निर्माण हेतु सर्वथा उपयुक्त केंद्र बनने की क्षमता रखता है| फिल्म निर्माण के लिए आवश्यक आधारभूत संरचना का निर्माण कर यह राज्य देश ही नहीं दुनिया के मानचित्र पर फिल्म उद्योग का एक प्रमुख केंद्र बन सकता है और इसके जरिये स्थानीय प्रतिभाओं को मंच व हजारों बेरोजगार युवाओं को रोजगार उपलब्ध करा सकता है| मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने इस अवसर को पहचाना है, राज्य में फिल्म उद्योग के विकास के लिए प्रतिबद्धता दिखाई है और उनके प्रयासों का ही प्रतिफल है कि झारखण्ड में लगातार फिल्मों की शूटिंग हो रही है|

श्री कुमार ने कहा कि झारखण्ड को फिल्म उद्योग का प्रमुख केंद्र बनाने का लक्ष्य सामने रखकर झारखण्ड फिल्म नीति 2015 बनाई गई है और फिल्म नीति के प्रावधानों के अनुरूप झारखण्ड फिल्म विकास निगम(जेएफ़डीसीएल ) का गठन किया गया है| देश भर के फिल्मकारों ने झारखण्ड सरकार के इन प्रयासों को हाथोंहाथ लिया है जिसका प्रमाण यह है कि राज्य सरकार को फिल्म निर्माण के 50 से ज्यादा प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं| झारखण्ड में फिल्म निर्माण के प्रस्तावों की समीक्षा के लिए प्रसिद्ध अभिनेता पद्मभूषण अनुपम खेर की अध्यक्षता में झारखण्ड फिल्म तकनीकी सलाहकार समिति का गठन किया गया है और इस समिति की अनुशंसा के आधार पर फिलहाल सात फिल्मों को अनुदान देने का निर्णय लिया गया है| उन्होंने कहा कि झारखण्ड में अधिकाधिक फिल्मों की शूटिंग हो, स्थानीय पर्यटन केन्द्रों व कला संस्कृति को बढ़ावा मिले और स्थानीय कलाकारों व बेरोजगार युवाओं को मंच व रोजगार मिले, इस उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार राज्य की फिल्म नीति के प्रावधानों के अनुरूप झारखण्ड में फिल्मों की शूटिंग करनेवालों को आकर्षक अनुदान भी दे रही है| इसके अतिरिक्त झारखण्ड में फिल्मों की शूटिंग करनेवालों को सुरक्षा समेत अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जा रही हैं|
श्री कुमार ने कहा कि झारखण्ड फिल्म उद्योग का एक प्रमुख केंद्र बने इसके लिए यहाँ फिल्म निर्माण से सम्बंधित आधारभूत संरचना का विकास भी आवश्यक है| दूरदर्शी मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने इसे ध्यान में रखते हुए राजधानी रांची के समीप पतरातू के सुरम्य वातावरण में फिल्म सिटी के निर्माण का निर्णय लिया है| उन्होंने बताया कि फिल्म सिटी के लिए भूमि हस्तांतरण का काम अंतिम चरण में है और उम्मीद है कि राज्य स्थापना दिवस अर्थात 15 नवम्बर को इसका शिलान्यास कर निर्माण कार्य आरम्भ कर दिया जाएगा| उन्होंने ‘नाचे नागिन गली – गली’ फिल्म के निर्माता, निर्देशक, कलाकारों एवं शूटिंग टीम के सदस्यों को फिल्म की सफलता की शुभकामनाएं भी दीं और अन्य फिल्मकारों को भी झारखण्ड में फिल्म निर्माण का आमंत्रण देते हुए कहा कि वे भी बेहतर फिल्म निर्माण का प्रस्ताव लेकर आयें, निर्धारित प्रावधानों के तहत झारखण्ड फिल्म विकास निगम से अनुमति प्राप्त कर फिल्मों की शूटिंग करें| राज्य सरकार एवं फिल्म विकास निगम फिल्म निर्माताओं की हर संभव सहायता के लिए तत्पर है|
इस अवसर पर सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग की उप निदेशक श्रीमती शालिनी वर्मा ने ‘नाचे नागिन गली – गली’ के निर्माता, निर्देशक एवं कलाकारों को शुभकामनाएं दीं और कहा कि फिल्म उद्योग झारखण्ड में विकास और रोजगार के नए द्वार खोल रहा है और यह सब मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास की दूरदर्शिता एवं कुशल नेतृत्व की वजह से संभव हो रहा है| उन्होंने कहा कि झारखण्ड फिल्म विकास निगम के रूप में एक अनुभवी और उत्साही टीम तैयार हुई है जो राज्य में फिल्म उद्योग को नई ऊंचाइयों पर ले जाने को प्रतिबद्ध है|
धन्यवाद ज्ञापन करते हुए सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के सहायक निदेशक एवं झारखण्ड फिल्म विकास निगम के कोषाध्यक्ष श्री सैयद राशिद अख्तर ने कहा कि प्रेरणादायी और समाज को सकारात्मक दिशा देनेवाली फिल्मों के प्रस्तावों के साथ निर्माता झारखण्ड आयें और सिंगल विंडो निष्पादन पद्धति के तहत प्रदेश के सुरम्य वातावरण में फिल्म निर्माण के साथ – साथ निर्धारित प्रावधानों के तहत अनुदान का भी लाभ लें|
समारोह को फिल्म ‘नाचे नागिन गली – गली’ के निर्माता – निर्देशक श्री मनोज नारायण ने भी संबोधित किया|

Leave a Reply