Latest News Top News

हजारीबाग में झारखण्ड के पहले खुले जेल का उद्घाटन

Inaguration-of-Open-Jail-in-Hazaribagh---01 Inaguration-of-Open-Jail-in-Hazaribagh---02 Inaguration-of-Open-Jail-in-Hazaribagh---03हजारीबाग, 19 नवम्बर 2013 :: मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने नारियल फोड़कर झारखण्ड  के पहले खुले जेल के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया। झारखण्ड  के पहले खुले जेल में 25 परिवारों को अपनी नयी जिंदगी शुरू करने और उन्हें मुख्यधारा से जोड़ने के अभिनव प्रयास का शुभारम्भ मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि इस खुले जेल में जो लोग मुख्य धारा से भटक कर गुम हो गए हैं, उन्हें पुनः समाज की मुख्य धारा में जोड़ने का कार्य शुभारम्भ किया जा रहा है, ताकि आने वाले समय में वे अपनी जिंदगी की लम्बी लकीर खींच सकें। उन्होेंने कहा कि पहले चरण के अंतगर्त इस खुले जेल में 25 परिवार को रखा गया है। जिन्हें सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। उनकी कोर्ट-कचहरी की समस्या दूर हो साथ ही उनके बच्चों को बेहतर शिक्षा दिलाने के लिए भी सरकार दृढ़ संकल्प है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे विश्वास है कि वे एक आजाद मन से अपना जीवन निर्वाह करेंगे। उन्होंने बताया कि उनलोगों के बीच रोजगार उपलब्ध कराने के लिए झारखण्ड क्राफ्ट का केन्द्र भी खोला गया है। जल्द ही डेयरी फर्म, खादी ग्राम उद्योग के केन्द्र भी खोले जाऐंगे।

इससे पूर्व झारखण्ड के गृह सचिव एन.एन. पाण्डेय ने बताया कि पुनर्वास नीति के प्रावधान के अनुसार इस जेल में रहने वाले कैदियों को 3000/- रूपया मासिक प्रशिक्षण लेने के लिए दिया जाएगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सभी कैदियों के बीच बैंक पासबुक का भी वितरण किया और उन्हें रू-ब-रू होकर स्थिति से भी अवगत हुए।

इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने पूरे जेल परिसर का भ्रमण किया। इस समारोह में झारखण्ड के मंत्री अन्नपूर्णा देवी, राजेन्द्र प्रसाद सिंह, योगेन्द्र साव, जयप्रकाश भाई पटेल, मन्नान मल्लिक, विधायक सौरभ नारायण सिंह भी उपस्थित थे।

Source :: IPRD, Jharkhand

Share

Leave a Reply