किसी देश या समाज का विकास तभी हो सकता है, जब उसका ग्रामीण क्षेत्र विकसित हो :: रघुवर दास [मुख्यमंत्री, झारखण्ड ]
Latest News Politics Top News

किसी देश या समाज का विकास तभी हो सकता है, जब उसका ग्रामीण क्षेत्र विकसित हो :: रघुवर दास [मुख्यमंत्री, झारखण्ड ]

 किसी देश या समाज का विकास तभी हो सकता है, जब उसका ग्रामीण क्षेत्र विकसित हो :: रघुवर दास [मुख्यमंत्री, झारखण्ड ]रांची, झारखण्ड । नवम्बर| 19, 2015 :: झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज श्री कृष्ण लोक प्रशासन संस्थान सभागार में आयोजित प्रधानमंत्री ग्रामीण विकास फेलोशिप के काॅन्टेक्ट प्रोग्राम को संबोधित करते हुये कहा कि आज भी गांव में गरीबी और पिछड़ापन व्याप्त है। गांव के लोग जागरुकता की कमी के कारण आज भी सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं उठा पातें हैं जो पिछड़ापन एवं गरीबी का मुख्य कारण है। उन्होंने प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे लोगों से कहा कि प्रशिक्षण पूरा कर जब ग्रामीण क्षेत्रों में जाएं तो अपने कौशल आधारित ज्ञान का प्रयोग अन्तिम पायदान पर बैठे लोगों तक योजनाओं का लाभ पहुंचाने में करें। उन्होंने कहा कि किसी देश या समाज का विकास तभी हो सकता है, जब उसका ग्रामीण क्षेत्र विकसित हो।

मुख्यमंत्री श्री दास ने कहा कि केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय के द्वारा संचालित प्रशिक्षण कार्यक्रम का दायित्व झारखण्ड को मिलना हर्ष की बात है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था के विकास पर सबसे अधिक जोर दिया था। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के विकास हेतु निश्चय कर अपना योगदान समर्पित एवं सेवा भाव से करें, इसे एक मिशन के रूप में लें, तभी व्यवस्था बदली जा सकेगी। ज्ञान आधारित इस युग में राज्य सरकार चाहती है कि गांव के अन्तिम व्यक्ति तक विकास योजनाओं का पूरा लाभ पंहुचे तभी गुड गर्वनेंस का मिशन कामयाब होगा। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए सरकार ने आई0टी0 आधारित कई सेवाओं की शुरूआत की है, जिसमें ई0-डिस्ट्रीक्ट, मोबाईल एप्स, राईट-टू-सर्विस एक्ट, टेली मेडीसीन आदि शामिल हैं।

            इस अवसर पर महानिदेशक श्री कृष्ण लोक प्रशासन संस्थान सुधीर प्रसाद, मुख्यमंत्री के सचिव सुनील कुमार वर्णवाल, श्रीमती सीतानाथ प्रभु , केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय के प्रोग्राम काॅडिनेटर सोमेन विश्वास सहित संबंधित विभाग के पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply