Raghubar Das
Latest News Top News

ज्ञान ही आज के समय की पूंजी है :: रघुवर दास [ मुख्यमंत्री, झारखण्ड ]    

Raghubar Dasराँची, झारखण्ड । दिसम्बर । मंगलवार । 15, 2015 :: झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि हमारी सरकार आई.टी. की मदद से लोगों को आॅनलाईन सेवा उपलब्ध कराने का प्रयास कर रही है। शिक्षा विभाग ने निजी स्कूलों को एनओसी के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू की है। अब वित्तरहित शैक्षणिक संस्थानों को अनुदान भी ऑनलाइन ही मिलेगा। पहले लोगों को विभागों को चक्कर काटने पड़ते थे। पारदर्शी तरीके से काम हो, भ्रष्टाचार से छुटकारा मिले यह हमारा प्रयास है। उन्होंने कहा कि झारखंड में प्रतिभा की कमी नहीं है. जरूरत है प्रतिभा को निखारने और प्रोत्साहित करने की। किसी समय शिक्षा के क्षेत्र में रांची और झारखंड का नाम था, उसी गौरव को फिर से लौटाना है. इस दिशा में राज्य सरकार काम कर रही है। वे आज स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग द्वारा तैयार वेबसाइट और ऑनलाइन सर्विसेज के उदघाटन के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे.

मुख्यमंत्री श्री दास ने कहा कि गांवों में आधारभूत संरचना को विकसित किया जा रहा है। अगले दो साल में राज्य में कोई ऐसा स्कूल नहीं रहेगा जहां बच्चों की पढ़ाई के लिए बेंच-डेस्क न हो। निजी स्कूल भी सहयोग दें कि आर्थिक तंगी के कारण प्रतिभाशाली बच्चा शिक्षा से वंचित न हो जाये। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना है कि भारत विश्व गुरु बने। इस सपने को पूरा करने के लिये सभी पदाधिकारी एवं कर्मचारी को ईमानदारी से काम करने की जरूरत है।

मुख्यमंत्री श्री दास ने कहा कि झारखंड को ज्ञान राज्य के रूप में विकसित करना है। ज्ञान ही आज के समय की पूंजी है. जिसके पास ज्ञान का धन है, वहीं सम्पन्न है. हमें राज्यहित को ध्यान में रखते हुए अपना काम ईमानदारी पूर्वक पूरा करना होगा. सरकार के इरादे नेक और नियत साफ है. हमारा लक्ष्य है कि जनता को ज्यादा से ज्यादा सुविधा मिले. लोगों को कार्यालयों को चक्कर न काटना पड़े. काम समय बद्ध तरीके से पूरा हो. प्रक्रिया को सरल करने का काम किया जा रहा है. यही कारण है कि 11 माह के शासन में विश्व बैंक ने झारखंड को व्यवसाय में आसानी के लिए 29वां से तीसरा स्थान दिया है. यह हमारे लिए गौरव की बात है. साथ ही सरकार कैसे काम कर रही है, यह भी दर्शाता है।

विभागीय मंत्री डॉ नीरा यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री की सोच के अनुरूप हमारा प्रयास है कि हम पारदर्शी और भ्रष्टाचार मुक्त शासन दें। इसी कड़ी में ऑनलाइन सुविधाएं शुरू की जा रही है. बच्चों की अनुदान राशि भी सीधे उनके खाते में ही जा रही है.

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री दास ने विभाग की वेबसाइट बनाने के लिए प्रशांत विश्वकर्मा की सराहना की तथा अंतरराष्ट्रीय व राष्ट्रीय स्तर पर विज्ञान प्रदर्शनी में जिन बच्चों ने पुरस्कार प्राप्त किया है उन्हें ट्रॉफी देकर सम्मानित किया। इसमें जापान में इंस्पायर्ड एवार्ड से सम्मानित खरसावां-सरायकेला की निशु कुमारी, नगर उंटारी के पृथ्वीराज सिहं को ब्लाइंड हेल्पिंग जैकेट बनाने के लिए, कृषि आधारित वेबसाइट बनाने के लिए सुंदर पहाड़ी गोड्डा की कुमारी लक्ष्मी को, प्लास्टिक से कंक्रीट सड़क बनाने के लिए रामगढ़ की प्रशंसा कुमारी, रसोई से डाइनिंग टेबल तक खाना पहुंचाने का रोबोट बनाने के लिए सरफाराज अंसारी को तथा बेबी फूड बनाने के लिए बुंडू की पुष्पा कुमारी को सम्मानित किया गया. कार्यक्रम में माउंट एसएस स्कूल पोड्याहाट, गोड्डा तथा संत जेवियर्स एकेडमी, डालटनगंज, पलामू को एनओसी प्रदान की गयी.

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के सचिव सुनील वर्णवाल, स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग की सचिव अराधना पटनायक, माध्यमिक शिक्षा निदेशक व प्राथमिक शिक्षा निदेशक समेत अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे.

Leave a Reply