Top News

राष्ट्रीय खादी और सरस मेला

राँची, दिनांक 26 दिसम्बर 2013 :: खादी और ग्रामोद्योग आयोग, सूक्ष्म, लघु और मध्यम-उद्यम मंत्रालय, भारत सरकार, ग्रामीण विकास विभाग एवं झारखण्ड राज्य खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड उद्योग विभाग, झारखण्ड सरकार के संयुक्त तत्वाधान में राष्ट्रीय खादी एवं सरस महोत्सव का आयोजन मोरहाबादी मैदान में किया जा रहा है। मेले में कस्तूरबा खादी ग्रामोद्योग, मूरी द्वारा लगाए गए स्टाॅल में प्रदर्शित उच्च स्तरीय खादी और ग्रामोद्योग उत्पादों की जानकारी दी गई। मेले में झारखण्ड में प्रचुर मात्रा में उपलब्ध कोकून से निर्मित धागे से हस्तकरघा पर बुने हुए वस्त्र, तसर खादी से बने वस्त्रों के स्टाॅल पर आज काफी भीड़ देखी गई। वर्तमान में रेशम खादी के उत्पादन में प्रत्यक्ष तौर पर 4700 कामगार संलग्न है।

मेले में आधार कार्ड बनवाने को लेकर अभी तक 200 फार्म जमा किए जा चुके है और आधार कार्ड में त्रुटियों को लेकर 50 लोगों ने सुधार कराया। सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के द्वारा लगाए स्टाॅल में लोगों को वर्तमान सरकार की उपलब्धियों की पुस्तक एवं अबुआ सरकार, अबुआ अधिकार निःषुल्क दी जा रही है। इन पुस्तकों में ऐसी योजनाओं की जानकारी उपलब्ध है, जिसका संबंध आम लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी से जुड़ा हुआ है।

गीत एवं नाट्य प्रभाग, भारत सरकार द्वारा प्रायोजित उडी़सा, असम, आन्ध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखण्ड के लोक कलाकारों ने लोक कथाओं पर आधारित गोटीपुआ, बिहू, कुच्चीपूड़ी, छऊ नृत्य प्रस्तुत किया।

Source :: IPRD, Jharkhand.

Leave a Reply