Lens Eye - News Portal - सावन में सोमवार का विशेष महत्व.
Latest News Top News

सावन में सोमवार का विशेष महत्व.

Lens Eye - News Portal - सावन में सोमवार का विशेष महत्व.दमोह, मध्यप्रदेश 29 जुलाई 2013 ::  सावन माह में सोमवार का विशेष महत्व  है। सोमवार के व्रत के विषय में एक पौराणिक मान्यता है कि इस व्रत को माता पार्वती ने पति रूप में भगवान शिव को प्राप्त करने के लिये इस व्रत को सबसे पहले किया था। इस व्रत के शुभ फलों के फलस्वरूप ही भगवान शिव उन्हें पति रूप में प्राप्त किया था, उस समय से इस व्रत को मनोवांछित  कामना पूर्ति के लिये किया जाता है।

 धर्माचार्यों के अनुसार भगवान शिव के अभिषेक के बाद बेलपत्र, समीपत्र, दूबा, कुशा, कमल, नीलकमल,कनेर, राई फूल आदि से शिवजी को प्रसन्न किया जाता है। इसके साथ ही भोग  के रूप में धतूरा, भाँग  और और श्रीफल महादेव को चढाया जाता है। हिंदू धर्म की पौराणिक मान्यता के अनुसार भगवान शिव को भक्त प्रसन्न करने के लिए बेलपत्र और समीपत्र चढाते है। कथा के अनुसार जब 89 हजार त्रषियों ने महादेव को प्रसन्न करने की विधि परम पिता ब्रहमा से पूछी तो ब्रहमदेव ने बताया कि महादेव सौ कमल चढाने से जितने प्रसन्न होते है, उतना ही एक नीलकमल चढाने पर होते है। ऐसे ही एक हजार नीलकमल के बराबर एक बेलपत्र और एक हजार बेलपत्र चढाने के फल के  बराबर एक समीपत्र का महात्व होता है।

रिपोर्ट :: डा.एल.एन.वैष्णव, दमोह.

Leave a Reply