Journalism is full of challenges in remote village areas :: Sheo Agarwal [ Gen Sec. JUJ ]
Latest News Top News

सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में पत्रकारिता चुनौतियों से भरी :: शिव अग्रवाल [ महासचिव, जेयूजे ]

Journalism is full of challenges in remote village areas :: Sheo Agarwal [ Gen Sec. JUJ ]लोहरदगा, झारखण्ड | फरवरी | 21, 2016 :: झारखंड यूनियन आफ जर्नलिस्ट व क्रिएटिव आई जिला पत्रकार संघ के संयुक्त तत्वाधान में दक्षिणी कोयल नदी तट पर स्थित नन्दगाँव में रविवार को पत्रकारों की वनभोज सह मिलन समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें झारखंड यूनियन आॅफ जर्नलिस्ट (जेयूजे) प्रदेश कमिटी के अध्यक्ष  रजत गुप्ता, महासचिव शिव अग्रवाल, कोषाध्यक्ष जगदीश सिंह, संयुक्त सचिव जावेद अख्तर बतौर अतिथि मौजूद थे। साथ ही जिले के विभिन्न प्रखंडों से अखबारों, पत्र-पत्रिकाओं व न्यूज चैनलों के 38 पत्रकारों ने भाग लिया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए जेयूजे प्रदेश कमिटी के अध्यक्ष श्री गुप्ता ने कहा कि पत्रकारिता का मुख्य उद्देश्य सेवा होना चाहिए वैमनस्यता नहीं। समाचारपत्र प्रेस एक बड़ी शक्ति है। लेकिन जिस तरह पानी की अनियंत्रित धारा गांवों में तबाही मचा देती है और फसलों को नष्ट कर देती है, उसी तरह अनियंत्रित कलम तबाही लाती है। पत्रकारों को इससे बचना चाहिए। संबोधित करते हुए महासचिव शिव अग्रवाल ने कहा कि पत्रकारिता (मीडिया) का प्रभाव समाज पर लगातार बढ़ रहा है। इसके बावजूद यह पेशा अब संकटों से घिरकर लगातार असुरक्षित हो गया है, खासकर सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में पत्रकारिता चुनौतियों से भ रा है। ऐसे में एक दूसरे का साथ और सहयोग काफी महत्वपूर्ण हैं। पत्रकार कयूम खान ने कहा कि पत्रकारिता के तीन उद्देश्य हैं- पहला जनता की इच्छाओं, विचारों को समझना और उन्हें व्यक्त करना है। दूसरा उद्देश्य जनता में वांछनीय भावनाएं जागृत करना और तीसरा उद्देश्य सार्वजनिक दोषों को नष्ट करना है। पत्रकारिता का वही काम है जो किसी समाज सुधारक का हो सकता है। संबोधित करने वालों में अवनी वर्मा, सतीष शाहदेव, आदि शामिल थे। मौके पर संजय कुमार, प्रीतम कुमार, संजीव रंजन, गफ्फार अंसारी, रौशन शाहदेव, शैलेश कुमार, संजय साहु, संजय कुमार, हेमन्त कुशवाहना अवनीश पाठक, आदि मौजूद थे।

Leave a Reply