उंगलियां चाटते रह जाओगे गर खाओगे
Latest News Top News

उंगलियां चाटते रह जाओगे गर खाओगे

उंगलियां चाटते रह जाओगे गर खाओगे सूरजकुण्ड, फरीदाबाद 13 फरवरी  2015 :: अगर आप मांसाहारी है और शाकाहारी बनाना चाहते हैं या फिर आप पहले मांसाहारी थे और अब शाकाहारी हो गए हैं या यदि आप कभी भी मांसाहारी नहीं रहें हैं और शाकाहारी रहते हुए मांसाहारी जैसे व्यंजन का स्वाद चखना चाहते हैँ तो इसके लिए आपको 29वें सूरजकुण्ड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेले में आना होगा और यहां स्थापित फुड कोर्ट के स्टाल नंबर १२ में पहली बार भारत में प्रस्तुत किए गए वैजले द्वारा सोया उत्पादों को जायका लेना होगा।
उनके इस स्टाल पर खडी डीएवी, फरीदाबाद की हैल्थ एवं वेलनस इंचार्ज हेमा अरोडा ने बातया कि वे इस स्टाल में आई हैं और उन्हें यहां पर सोया से तैयार इन उत्पादों को देखकर आश्चर्य हो रहा है कि इन लेागों ने ये किस प्रकार से मांसाहारी यानि के चिकन व मटन की तरह तैयार किए हैं। यह एक अनुसंधान का विषय हैं और मुझे लगता है कि इस पर काफी ज्यादा अनुसंधान किया गया है। उन्होंने बताया कि सोया से तैयार ये सारे उत्पाद काफी स्वादिष्ट और सेहतदायक हैं। उन्होंने कहा कि वे इन उत्पादों को सबिसडी पर अपने स्कूल में मुहैया करवाने के लिए सोच रही हैँ यदि दामों पर कुछ बात बने गई तो।
उंगलियां चाटते रह जाओगे गर खाओगेवहीं स्टाल संचालक श्री बजाज का कहना है कि इन उत्पादों को तैयार करने के लिए उन्होंने इस पर काफी अनुसंधान किया है और वे अब इन उत्पादों को अपनी पहुंच के अनुसार पूरे देश में लांच कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि ये सोया उत्पाद देश में पहली आ रहे हैं जो मांसाहारी जैसे उत्पादों की तरफ खाने में लगते हैं और उसी प्रकार का जायका आता है। उनका कहना है कि उन्होंने सोया नूडली, सोया इंडी चाप, सोया इंडी फिश, सोया इंडी फ्राइच, सोया सीक कबाव, सोया कटलेट, सोया शामी कबाव, सोया लेग पीस, सोया चिका फ्राइच, सोया चिका फिश, सोया चिका डायमण्ड, सोया चिका चाप, सोया बेगेट, सोया सलाद नूडली, सोया स्लाईस, सोया बर्गर टिकी, सोया स्प्रींग रोल, सोया मनचूरियन बाल, सोया पीकल, वेजमूड मसाला और सोया नूडली भी हैं।
उन्होंने सोया नूडली के महत्व पर प्रकाश डालते हुए बताया कि यह प्रोटीन से भरपूर, डाइट्री फाईबर से भरपूर, कैलसीयम का अच्छा स्रोत, मधुमेह रोगियों के लिए उतम आहार, कैलोस्ट्रेाल लेवल कम करने में सहायक, बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं के लिए उतम आहार, मांसाहारी के लिए अच्छा विकल्प, कोरोनरी ह्दय रोग के जोखिम को कम करने में सहायक, कैंसर को रोकने में सहायक और लैकटोज असहनशील क ेलिए एक अच्छा स्रोत है। इसी प्रकार, उन्होंने चिकट व मटन से प्राप्त होने वाले पौष्टिक गुणों के अंतर को भी सोया से किया है जिसमें सोया में अधिक पोष्टिक गुण बताए गए हैं।

Report & Photograph by Naresh Narula, Faridabad.

Leave a Reply