Latest News

स्वास्थ्य शरीर में ही स्वस्थ्य मन का विकास: डा.अमूल रंजन सिंह [निर्देशक,रिनपास]

लोहरदगा :: स्वास्थ्य शरीर में ही स्वस्थ्य मन का विकास होता हैं। ये बातें रिनपास के निर्देशक प्रो0 डा0 अमूल रंजन सिंह ने बुधवार को सदर अस्पताल परिसर में रांची के भारत अनुसंधान कल्याण समिति द्वारा मानसिक चिकित्सा शिविर में बतौर मुख्य अतिथि कही। उन्होंने कहा कि पूर्व में लाज-शर्म, हिचक व जागरूकता की कमी से लोग मानसिक चिकित्सालय तक नहीं पहुचते थे, लेकिन जैसे-जैसे लोग जागरूक हो रहे हैं, अस्पतालों व शिविरों में रोगियों की संख्या ब़ढ रही है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2000 में 6800 रोगी, 2010 में 75000 तथा 2011 में 90000 रोगियों को ढूंढ कर निकाली गयी और उनके इलाज कर मुफ्त दवाएं दी गयीं। अधिकांश मरीज इलाज के बाद पूर्ण रूप से ठीक हो गये। रिनपास निर्देशक प्रो0 डा0 अमूल रंजन सिंह ने फिता काट कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि इससे पूर्व रांची, डाल्टनगंज, जमश्ोदपुर और गुमला में शिविर लगाकर मानसिक रोगायों का इलाज किया जा चुका हैं। लोहरदगा से भी मानसिक रोग, नशा, बुद्धि, मिगी फरका, डिप्रेशन, निरंतर सरदर्द, वृद्ध होने पर याददास्त कम होना, किसी विचार का बार-बार आना या खुदकुशी करने का ख्याल जैसे बिमारी को उखड फेकना हैं। उन्होंने कहा की लोहरदगा के सदर अस्पताल परिसर में महिने के अंतिम बुधवार को शिविर लगाकर इलाज  किया जाएगा। रिनपास के मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डा0 बलराम, सिविल सर्जन डा0 राजकुमार बेक ने भी सभा को संबोधित किया। शिविर में मरीजों को जांचकर मुफ्त दवा भी वितरण किया गया।

शिविर में प्रखंड विकास पदाधिकारी, सीडीपीओ, जिला परिषद, प्रमुख, उपप्रमुख, मुखिया, उपमुखिया, पंचयात समिति, वार्ड पार्षद, सहिया, आंगनबाड़ी, सेविका से संस्था ने आग्रह किया कि अपने-अपने क्षेत्र में आम ग्रामीण जनता को मानसिक रोगियों को ज्यादा जानकारी देने की बात कही गयी। मौके में नेशनल रूलर हेल्थ मिशन के डीपीएम नाजीस फहीम अख्तर, मनोचिकित्सक डा0 एसए आलम, सुजीत यादव, आरती कुमारी, अंजुमन इस्लामिया सदर मो0 खालीद शाह, सेकेट्ररी मो0 एकबाल, संरक्षक कृष्णा सिंह, सचिव मो0 फहीम व रिजनल टेनींग मैनेजर कौशर बानो ने कार्यक्रम में मुख्य सहयोग दिया।

Leave a Reply