Politician
Article / Story / Poem / Short Story

मिडिलमैन – मुकेश कुमार [ राची ]

Politicianऐ मिडिलमैन- ऐ मिडिलमैन

तुम मत बनना नेताओं का फैन

काम पड़ने पर तुम्हें रिझातें हैं

काम निकल जाने पर तुम्हें समझातें हैं

लेकिन तुम्हारे काम न आतें हैं

आप अपना समय क्योंव्यर्थगवाते हैं।

ऐ मिडिलमैन- ऐ मिडिलमैन

तुम मत बनना नेताओं का फैन

बनता बजट देश का, आप नजर न आतें हैं

समस्याओं से आप नित्य टकरातें हैं

अपना समय गवा कर क्यों आसु बहाते हैं

आगे बढ़ने से, आप क्यों घबड़ातें हैं

ढ़ृढ़ता से आग बढ़े चाहे लुट जाए चैन

ऐ मिडिलमैन-ऐ मिडिलमैन

तुम मत बनना नेताओं का फैन

–       मुकेश कुमार, शंकर नगर, बरियातु, राची।

Leave a Reply